मुख्यमंत्री ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे फेज-3 हलियापुर का स्थलीय निरीक्षण किया

सुल्तानपुर (11 फरवरी, 2020)।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, फेज-3 हलियापुर का स्थलीय निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने निर्माण कार्याें पर संतोष व्यक्त किया।



मुख्यमंत्री ने निरीक्षण के पश्चात उन्होंने प्रगति समीक्षा बैठक के दौरान पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के फेज-1, 2, 3 व 4 के सम्बन्ध में जिलास्तरीय, यूपीडा और कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को निर्देश दिये कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य प्रत्येक दशा में दीपावली के पूर्व पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाए, ताकि दीपावली के अवसर पर मुख्य मार्ग को यातायात के लिए खोला जा सके। उन्होंने कहा कि कार्य को समयबद्ध और गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूरा किया जाए। उन्होंने स्थानीय किसानों को समय से भूमि मुआवजे की धनराशि भुगतान करने एवं उनकी आवश्यकतानुसार अण्डरपास और वाॅटर लाॅगिंग क्षेत्रों में ड्रेनेज कार्य पूरा किये जाने के भी निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे फेज-1 व 2 की प्रगति पर सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि समय से निर्माण कार्य मानक के अनुरूप पूर्ण कराये जायें। इसमें किसी प्रकार शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि जिन गांवों की सर्विस लेन/सड़कें डम्पर आदि चलाये जाने से खराब हो गयी हैं, उन्हें ठीक कराया जाये, ताकि जन सामान्य को किसी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने कार्यदायी संस्था को गांव के विद्यालय में सोलर पैनल, वाॅटर कूलर, लैपटाॅप आदि मुहैया कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के दोनों तरफ औद्योगिक गलियारे विकसित किये जायेंगे, जिससे रोजगार के अवसर बढेंगे।



मुख्यमंत्री ने अधिकारियों के साथ समीक्षा के पश्चात यूपीडा शिविर कार्यालय, हलियापुर में प्रेसवार्ता करते हुए बताया कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा वर्ष 2018 में किया गया। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पूर्वी उत्तर प्रदेश की लाइफ लाइन बनने जा रहा है। उत्तर प्रदेश पर्सेप्शन को बदलने और देश के अग्रणी राज्यों में शामिल होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में तीन एक्सप्रेस-वे की परिकल्पना मार्च, 2017 में की गयी थी, जिनमें पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पहला है। दूसरा बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे और तीसरा गंगा एक्सप्रेस-वे है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अम्बेडकर नगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर जनपदों से होते हुए इसे वाराणसी, बलिया से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 340 किमी। लम्बा इस एक्सप्रेस-वे की सभी बाधाएं दूर हो चुकी हैं। अब इसकी प्रगति 35 प्रतिशत से अधिक है।



अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना तथा यूपीडा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के सभी फेज की प्रगति की जानकारी सम्बन्धित जिले के अधिकारियों व कार्यदायी संस्था के अधिकारियों से लेते हुए निर्देशित किया कि सभी कार्य मानक के अनुरूप समयबद्ध ढंग से पूर्ण किये जायें। जिलाधिकारी सुल्तानपुर द्वारा बताया गया कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण में आने वाली समस्याओं को दूर करा दिया गया है। अन्य कतिपय समस्याओं को भी यथाशीघ्र दूर करा दिया जायेगा। इसी प्रकार लखनऊ, बाराबंकी, अयोध्या और अमेठी के अधिकारियों द्वारा प्रगति के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया। कार्यदायी संस्था के अधिकारियों द्वारा आ रही समस्याओं तथा प्रगति की जानकारी दी गयी।

मुख्यमंत्री के जनपद आगमन पर नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन, गन्ना विकास राज्य मंत्री सुरेश पासी एवं अन्य जनप्रतिनिधिगणों ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया।
btnimage