UPCM की उपस्थिति में हाॅयर कम्पनी और राज्य सरकार के मध्य MOU हस्ताक्षरित

उत्तर प्रदेश।
UPCM ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार के सतत प्रयास से उत्तर प्रदेश में निवेश अनुकूल वातावरण तैयार हुआ है। इससे राज्य में बड़ी संख्या में निवेश के इच्छुक औद्योगिक संस्थान अपने प्रतिष्ठान स्थापित कर रहे हैं। देश और प्रदेश के हित में, राज्य सरकार की नीतियों के अनुरूप कोई भी व्यक्ति या संस्थान प्रदेश में निवेश कर सकता है। प्रदेश सरकार ऐसे निवेशकों और औद्योगिक संस्थानों को सभी सम्भव सहयोग उपलब्ध कराएगी।

UPCM ने अपने सरकारी आवास पर हाॅयर कम्पनी और राज्य सरकार के मध्य एक एम.ओ.यू. हस्ताक्षर समारोह में अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव IT एवं इलेक्ट्राॅनिक्स आलोक सिन्हा और हाॅयर इण्डिया के प्रेसिडेण्ट एरिक ब्रगेंज़ा के मध्य प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में हाॅयर इण्डिया नाॅर्थ इण्डस्ट्रियल पार्क की स्थापना के सम्बन्ध में MOU पर हस्ताक्षर एवं दस्तावेज का आदान-प्रदान किया गया। UPCM ने इस अवसर पर बटन दबाकर ग्रेटर नोएडा में हाॅयर इण्डिया के प्रस्तावित औद्योगिक पार्क के 3D माॅडल का अनावरण किया। UPCM ने औद्योगिक पार्क के 3डी माॅडल का अवलोकन भी किया।

UPCM ग्रेटर नोएडा में हाॅयर इण्डिया के प्रस्तावित हाॅयर इण्डिया नाॅर्थ इण्डस्ट्रियल पार्क के 3डी माॅडल का अनावरण करते हुए
UPCM ग्रेटर नोएडा में हाॅयर इण्डिया के प्रस्तावित हाॅयर इण्डिया नाॅर्थ इण्डस्ट्रियल पार्क के 3डी माॅडल का अनावरण करते हुए

UPCM ने कहा कि दुनिया की प्रतिष्ठित कम्पनी के साथ राज्य सरकार का समझौता प्रदेश में औद्योगिक निवेश को एक नए गंतव्य की ओर ले जाएगा। हाॅयर कम्पनी द्वारा ग्रेटर नोएडा में 3000 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश करके 02 साल से भी कम समय में रेफ्रीजरेटर, वाॅशिंग मशीन, TV आदि का उत्पादन प्रारम्भ किया जाएगा। समझौते को कार्य रूप में बदलने के लिए प्रदेश सरकार की टीम को साधुवाद देते हुए उन्होंने कहा कि इस समझौते से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘मेक इन इण्डिया’ अभियान को भी नई गति मिलेगी।

UPCM ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने डेढ़ वर्ष के समय में सभी को बिना किसी भेदभाव के सुरक्षा का वातावरण सुलभ कराया है। इसके साथ ही, प्रदेश में निवेश आकर्षित करने के लिए फोकस सेक्टर्स को चिन्ह्ति कर नीतियां बनायी गई हैं। 21 व 22 फरवरी, 2018 को लखनऊ में सम्पन्न ‘यू.पी. इन्वेस्टर्स समिट’ में लगभग 05 लाख करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव हुए थे। 29 जुलाई, 2018 को प्रधानमंत्री द्वारा 60 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास ‘ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी’ के माध्यम से किया गया। निवेशकों को किसी भी परेशानी से बचाने के लिए सिंगल विण्डो सिस्टम भी क्रियाशील किया गया है। वर्तमान में उत्तर प्रदेश देश का सबसे अच्छा निवेश गंतव्य है।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि UPCM के नेतृत्व में राज्य में औद्यागिक विकास का नया युग शुरू हुआ है। UPCM ने निवेशकों और उद्यमियों के लिए हर सम्भव सहायता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए मुख्य सचिव डाॅ. अनूप चन्द्र पाण्डेय ने कहा कि वर्तमान सरकार के प्रयासों से उत्तर प्रदेश निवेश का ग्लोबल हब बन गया है। चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, अमेरिका आदि देशों की कम्पनियों उत्तर प्रदेश में उद्यम स्थापित करना चाहती हैं।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए ग्लोबल एप्लायंसेज हाॅयर ग्रुप के वाइस प्रेसिडेण्ट और हाॅयर एप्लायंसेज इण्डिया के प्रबन्ध निदेशक साँग युजुन ने कहा कि भारत हाॅयर ग्रुप का बड़ा मार्केट है। प्रदेश सरकार द्वारा हाॅयर ग्रुप को अपने उद्यम की स्थापना हेतु उपलब्ध कराई जा रही मदद के लिए धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि हाॅयर ग्रुप यहां के उपभोक्ताओं की आवश्यकताओं के अनुरूप उत्पाद तैयार करेगा। इस अवसर पर चीनी दूतावास के इकोनाॅमिक एण्ड काॅमर्शियल काउंसलर ली वाई चुंग ने भी अपने विचार व्यक्त किए। हाॅयर इण्डिया के प्रेसिडेण्ट एरिक ब्रगेंज़ा ने अतिथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस अवसर पर औद्योगिक विकास राज्य मंत्री सुरेश राणा, इलेक्ट्राॅनिक्स राज्यमंत्री मोहसिन रजा, अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास राजेश कुमार सिंह सहित शासन-प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

btnimage