विधायी मंत्री ने भूगर्भ जल विभाग अराजपत्रित कर्मचारी संघ के द्वि-वार्षिक अधिवेशन का शुभारम्भ किया

लखनऊ (12 सितम्बर, 2019)।
विधायी एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक ने कृषि भवन स्थित सभागार में उत्तर प्रदेश भूगर्भ जल विभाग अराजपत्रित कर्मचारी एसोसिएशन के द्वि-वार्षिक अधिवेशन का शुभारम्भ करने के उपरान्त कार्यक्रम को संबोधित किया।

विधायी मंत्री ने कहा कि कर्मचारी संघ कर्मचारियों के हितों के लिए संघर्ष करता है और उनको न्याय दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। संघ द्वारा दिये गये ज्ञापन में कर्मचारियों की जो भी समस्याएं हैं, प्रदेश सरकार उस पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगी।

विधायी मंत्री ने भूगर्भ जल विभाग अराजपत्रित कर्मचारी संघ के द्वि-वार्षिक अधिवेशन का शुभारम्भ किया

विधायी मंत्री ने कहा कि कर्मचारी सरकार का अभिन्न अंग हैं। बिना कर्मचारियों के शासकीय कार्य का संपादन करना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के हितों के प्रति प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है।

विधायी मंत्री ने कहा कि भूगर्भ जल के संरक्षण में भूगर्भ जल विभाग की महती भूमिका है। राज्य सरकार ने भूगर्भ जल विभाग के कार्यों को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में रखा है। वर्तमान में आवश्यकता इस बात की है भूगर्भ जल स्तर के सुधार और इसके संरक्षण के लिए स्कूली बच्चों, सरकारी/गैर सरकारी संगठनों सहित ज न सामान्य को जागरूक किया जाय। उन्होंने कहा कि भूगर्भ जल विभाग के कार्मिकों को इस दिशा में और लगन तथा ईमानदारी से काम करना होगा। अगर इस पर अभी से ध्यान नहीं दिया गया तो भविष्य में जल के संकट से निपटना बहुत ही मुश्किल हो जायेगा। उन्होंने अराजपत्रित कर्मचारी एसोसिएशन के द्वि-वार्षिक अधिवेशन की सफलता के लिए बधाई देते हुए भूगर्भ जल विभाग के कर्मियों का आह्वाहन किया कि वे अपने दायित्वों का निर्वहन ईमानदारी से करें।

इस कार्यक्रम में भूगर्भ जल विभाग के निदेशक वी.के. उपाध्याय, उ.प्र. भूगर्भ जल विभाग के अध्यक्ष राम नरेश, महामंत्री नागेन्द्र यादव, अध्यक्ष राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, उ.प्र. एस.पी. तिवारी सहित प्रदेशभर से आए बड़ी संख्या में पदाधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।
btnimage