मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने विश्व जनसंख्या 2019 पर प्रेस कान्फ्रेन्स का आयोजन किया

लखनऊ (10 जुलाई, 2019)।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह की अध्यक्षता में विश्व जनसंख्या 2019 की पूर्व संन्ध्या पर एक प्रेस कान्फ्रेन्स का आयोजन किया।

मंत्री द्वारा प्रदेश के स्वास्थ्य सूचकांकों के अपेक्षित सुधार में परिवार कल्याण कार्यक्रम की महत्ता पर विस्तार से अवगत कराया गया। वर्तमान में प्रदेश की मातृ मृत्यु दर 201 प्राप्त किये जाने में परिवार कल्याण कार्यक्रम की महत्ता को नकारा नहीं जा सकता है। प्रमाण है कि उपरोक्त अवधि के दौरान ही एन.एफ.एच.एस.-4 के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश की सकल प्रजनन दर में भी गिरावट दर्ज की गयी। वर्तमान में प्रदेश की सकल प्रजनन दर 2.7 है, जिसको निकट भविष्य में 2.1 तक प्राप्त किया जाना है।

विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई 2019 को मनाया जा रहा है। इस अवसर पर 11-24 जुलाई 2019 को 'जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा' घोषित किया गया है और जनसंख्या स्थिरता के सम्बन्ध में जन जागरुकता बढ़ाने के लिए 'परिवार नियोजन से निभाएं जिम्मेदारी, माॅ और बच्चे के स्वास्थ्य की पूरी तैयारी' थीम निर्धारित किया गया है। इसी क्रम में पूरे प्रदेश में 11 से 24 जुलाई के मध्य जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जायेगा। इस पखवाड़े के दौरान राज्य एवं जनपद की स्वास्थ्य इकाईयों पर जनमानस के मध्य परिवार नियोजन के स्थाई एवं अस्थायी विधियों का प्रचार-प्रसार किये जाने के साथ-साथ लाभार्थियों को उनकी इच्छानुसार गर्भनिरोधक साधन उपलब्ध कराये जायेंगें। इस दौरान जनपद स्तर पर स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया जायेगा।

राज्य स्तर पर विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई 2019 को निम्न गतिविधियां सम्पादित की जानी हैं -
* स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री उत्तर प्रदेश द्वारा जनजागरूकता रैली का शुभारम्भ शहीद स्मारक से किया।

* जनजागरूकता रैली का समापन के.डी. सिंह बाबू स्टेडियम पर किया जाएगा।

* इस रैली में पी.एफ.आई. संस्था के द्वारा जन समुदाय के मध्य हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा।

* रैली में मोटर साईकिल सवार व विभिन्न पैरामेडिकल कालेजों के छात्र व छात्राएं और समस्त सहयोगी संस्थाओं के वालेन्टियर व प्रतिनिधि शामिल होंगे।

प्रदेश में परिवार कल्याण कार्यक्रम अन्तर्गत कार्य कर रहे गैर सरकारी संस्थाओं जैसे कि सिफ्सा, यू.पी.टी.एस.यू., जपाईगो, आईपास, जी.एच.एस., एब्ट एसोसिएट्स, एफ.आर.एच.एस. एच.एल.एफ.पी.पी.टी., एफ.पी.आई., एफ.पी.ए.आई., मोबियस फाउन्डेशन, पी.एस.आई., आदि द्वारा सहयोग प्रदान कर परिवार नियोजन की सेवाएं वृहद रूप में उपलब्ध करायी जायेगीं।
btnimage