UPCM मंत्रिमंडल के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने शासकीय कार्य के प्रति उदासीनता बरतने पर अनुभाग अधिकारी पर कार्रवाई के निर्देश दिये

उत्तर प्रदेश।
UPCM मंत्रिमंडल के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने जनपथ स्थित विकास भवन में आयोजित समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देशित किया।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा शीघ्र ही ऑक्सीजन पॉलिसी लागू की जायेगी जिसका ड्राफ्ट द्वारा तैयार किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि ऑक्सीजन पॉलिसी लागू होने किये जाने का मुख्य उद्देश्य ऑक्सीजन सिलेंडर के इस्तेमाल को कम करना है। ऑक्सीजन पॉलिसी के तहत प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों का मेडिकल गैस पाइपलाइन से सम्बंधित टेक्निकल अस्सेस्मेंट किया जाएगा।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कौशाम्बी जनपद में स्वास्थ्य विभाग के लापरवाह बाबुओं के स्थानान्तरण की फाइलों को समय से न प्रस्तुत करने के कारण चिकित्सा अनुभाग 4 के अनुभाग अधिकारी पर कार्रवाई करते हुए उसे तत्काल स्थानांतरित करने के निर्देश दिये।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह जनपथ स्थित विकास भवन में आयोजित समीक्षा बैठक में अधिकारियों को  निर्देशित करते हुए
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह जनपथ स्थित विकास भवन में आयोजित समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देशित करते हुए

समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने यह भी कहा कि ऑक्सीजन पॉलिसी के तहत सभी जिला अस्पतालों में ऑक्सीजन जनरेटर के द्वारा ऑक्सीजन सप्लाई किया जाना भी प्रस्तावित है। साथ ही CHC एवं इससे ऊपर के सभी सरकारी अस्पतालों में सेंट्रल गैस पाइपलाइन लगाईं जाएगी। ऑक्सीजन पॉलिसी के तहत सभी अस्पतालों में समुचित ऑक्सीजन फ्लो मीटर और CPAP और BIPAP मशीन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी।

समीक्षा बैठक में प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य प्रशान्त त्रिवेदी, सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य वी.हेकाली झिमोमी, मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन पंकज कुमार, निदेशक (प्रशासन) चिकित्सा एवं स्वास्थ्य पूजा पाण्डेय, विशेष सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य उमेश मिश्रा एवं नीरज शुक्ला और महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य पद्माकर सिंह उपस्थित रहे।

btnimage