UPCM ने गोरखपुर में 73 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया

उत्तर प्रदेश (गोरखपुर)।
UPCM ने जनपद गोरखपुर में गोरखपुर क्लब में नगर निगम, लोक निर्माण विभाग, सिंचाई एवं जल संसाधन, विद्युत, खेल एवं कृषि विभाग की कुल 73 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इनमें 3,929 लाख रुपये की 66 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं 1,932.63 लाख रुपये की 7 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया है उसको समयबद्ध ढंग से पूर्ण किया जाये तथा कार्य गुणवत्तायुक्त एवं मानक के अनुरूप हो।

UPCM गोरखपुर में कार्यक्रम का दीप प्रज्जवलित कर शुभारम्भ करते हुए
UPCM गोरखपुर में कार्यक्रम का दीप प्रज्जवलित कर शुभारम्भ करते हुए

UPCM ने कहा कि विकास का कोई विकल्प नहीं है और विकास के प्रति सबकी सकारात्मक सोच होती है। उन्होंने कहा कि गोरखपुर जनपद विकास की नई उंचाइयों की ओर अग्रसर है। अब यह पिछड़े जनपद की श्रेणी में नहीं गिना जायेगा। जनपद अपनी विरासत को आगे बढ़ाते हुए आधुनिक विकास से जुड़ रहा है। UPCM ने इस अवसर पर अमर शहीद पंडित राम प्रसाद बिस्मिल को कोटिशः नमन किया।

UPCM ने कहा कि जनपद को स्वच्छ, सुन्दर बनाने के साथ विकास को गति प्रदान करना आवश्यक है। इसके लिए उन्होंने आमजन में जागरूकता लाने पर बल देते हुए कहा कि वार्डवार स्वच्छता कमेटी का गठन किया जाये और जनसामान्य को जागरूक किया जाए। इस कार्यक्रम में आमजन की सहभागिता सुनिश्चित होने से ही जनपद को स्वच्छ एवं सुन्दर बनाया जा सकता है। उन्होंने स्वच्छता के साथ-साथ वृक्षारोपण पर भी विशेष जोर दिया, जिससे जनपद स्वच्छ, सुन्दर एवं हरा-भरा बन सके।

UPCM गोरखपुर में 73 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करते हुए
UPCM गोरखपुर में 73 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करते हुए

UPCM ने कहा कि जल-जमाव की समस्या का स्थायी निदान होना आवश्यक है। इसके लिए प्रभावी कार्ययोजना तैयार की जाये। सड़कें चैड़ी हों, निर्बाध विद्युत आपूर्ति हो, शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो इस दिशा में निरन्तर कार्य किया जा रहा है, लेकिन इसकी शत-प्रतिशत सफलता में जनसहभागिता आवश्यक है। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित पार्षदों से कहा कि वे अपने-अपने वाॅर्ड को स्वच्छ बनायें, जिससे यह जनपद पूरे प्रदेश व देश के लिए स्वच्छता के रूप में अपनी पहचान बनाये। यह कार्य कठिन नहीं है, आवश्यकता दृढ़ इच्छाशक्ति और जागरूकता की है। थोड़ी सी जागरूकता शहर को सुन्दर, स्वच्छ एवं जेई जैसी बीमारी से निजात दिला सकती है।

UPCM ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से गरीबों को आच्छादित करने हेतु पात्रों की सूची बना ली जाये ताकि उन्हें इस योजना के तहत लाभान्वित किया जा सके। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत आवास निर्माण हेतु ढाई लाख रुपये देने का प्राविधान है। इसी प्रकार उन्होंने शौचालय निर्माण एवं उसके प्रयोग पर विशेष बल दिया। UPCM ने नाले/नालियों की नियमित सफाई करने तथा उसमें कूड़ा कचरा न फेंकने के संबंध में लोगों को जागरूकता किये जाने की आवश्यकता जतायी। उन्होंने कहा कि कूड़ा-कचरा से नालियां जाम होती हैं, जिसके कारण जल-जमाव और अनेकानेक बीमारियां पनपती हंै।

UPCM ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में LED बल्ब लगाये जा रहे हैं तथा यह भी व्यवस्था की जा रही है कि पुरानी लाइटों को बदल कर LED लाइटें लगायी जायें। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 5.50 लाख स्ट्रीट लाइटें लगाई गई हैं। उन्होंने पेयजल व्यवस्था बेहतर बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि शुद्ध पेयजल की किल्लत नहीं होनी चाहिए।

btnimage