UPCM योगी आदित्यनाथ ने कांवड़ यात्रा के सम्बन्ध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की

लखनऊ (03 जुलाई, 2019)।
UPCM योगी आदित्यनाथ ने लोक भवन में सावन मास में शुरू होने वाली कांवड़ यात्रा के सम्बन्ध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपदों और मण्डलों के पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कांवड़ यात्रा की व्यवस्था के बारे में सभी अधिकारी प्रयागराज कुम्भ-2019 से सीख लें। उन्होंने कहा कि अगर कुम्भ जैसा बड़ा आयोजन इतनी सफलता से हो सकता है, तो कांवड़ यात्रा को भी बेहतर ढंग से सम्पन्न कराया जा सकता है। कांवड़ यात्रा के बाद से ही छठ तक त्यौहारों का एक लम्बा सिलसिला चलने वाला है। कांवड़ यात्रा के बेहतर प्रबन्धन का संदेश सभी पर्वों एवं त्यौहारों तक जाएगा। इससे शासन और प्रशासन की लोगों में अच्छी छवि बनेगी।

UPCM योगी आदित्यनाथ ने कांवड़ यात्रा के सम्बन्ध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलाधिकारी प्रमुख शिवालयों की साफ-सफाई के साथ-साथ आवश्यकतानुसार वहां बिजली, पानी, सुरक्षा और अन्य बुनियादी सुविधाओं की व्यवस्था समय रहते सुनिश्चित करा लें। जरूरत हो तो स्थानीय स्तर पर स्वंयसेवी संगठनों की भी मदद लें।
जनसहभागिता जितनी अधिक होगी, सफलता की सम्भावना उतनी ही अच्छी होगी। कांवड़ यात्रा के दौरान कांवड़ियों की सुरक्षा की निगरानी हेलीकॉप्टर से करने के साथ ही, उन पर पुष्प वर्षा भी की जाए। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित करा लें की शिवालयों के पास मांस-मदिरा की दुकानें संचालित न हों। प्लास्टिक, थर्माकोल का प्रयोग नहीं होना चाहिए। जिन जगहों से कांवड़ यात्री जाने वाले हैं, वहां पर स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए। मौके पर डस्टबिन रखवाया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि संवेदनशील स्थानों पर CCTV कैमरा लगवाएं, जर्जर तार और पोलों को ठीक करा लिया जाए। कांवड़ यात्रा में पहले की तरह डीजे और माइक पर कोई प्रतिबन्ध नहीं रहेगा। स्थानीय अधिकारी यह सुनिश्चित कराएंगे कि इनसे सिर्फ भजन ही बजे। इसके साथ ही, डीजे की आवाज इतनी ही रहे जितनी कर्ण प्रिय लगे।

UPCM योगी आदित्यनाथ ने कांवड़ यात्रा के सम्बन्ध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलाधिकारी और एस.एस.पी. जेलों का नियमित निरीक्षण करें। IG, DIG और कमिश्नर भी जेलों का औचक निरीक्षण करें। कप्तान प्रतिदिन एक थाने का निरीक्षण करें। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी पौधरोपण अभियान की अगुवाई स्वयं करें। पोषण के मामले में सहजन के महत्व को देखते हुए यह सुनिश्चित कराएं कि मानसून के इस सीजन में हर गरीब खासकर जो लोग प्रधानमंत्री आवास योजना से लाभान्वित हुए हैं, उनके घरों के सामने दो पौधे जरूर लग जाएं। इसके साथ ही जिले में एक ऐसी जगह चिन्हित करें, जहां एक साथ पांच लाख पौधे लगाए जा सकें। उन्होंने कहा कि इस पूरे अभियान से लोगों को जोड़ते हुए इसे जन आन्दोलन बनाया जाए।

इस अवसर पर मुख्य सचिव डाॅ. अनूप चन्द्र पाण्डेय, पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह, अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एस.पी. गोयल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।
btnimage