UPCM योगी ने सहारनपुर में विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया

सहारनपुर (06 सितम्बर, 2019)।
UPCM योगी आदित्यनाथ ने जनपद सहारनपुर के कृषि उत्पादन मण्डी समिति गंगोह में 450 करोड़ रुपए से अधिक लागत की विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। उन्होंने इस अवसर पर जनपद सहारनपुर में 101 स्मार्ट क्लासेज का शुभारम्भ भी किया और कलेक्ट्रेट, विकास भवन और तहसील सदर को आई.एस.ओ. प्रमाण-पत्र भी प्रदान किया।

UPCM योगी सहारनपुर में कार्यक्रम के दौरान लाभार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि इस क्षेत्र का किसान, नौजवान और उद्यमी देश और दुनिया में एक नई पहचान बनाता है। जनपद सहारनपुर अपनी कृषि के लिए तो मशहूर है ही, यहाँ की लकड़ी की नक्काशी का कार्य भी अपनी अलग पहचान रखता है। यह जनपद विकास के मार्ग पर तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है।

UPCM योगी सहारनपुर में कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जनपद सहारनपुर का दिल्ली से सीधा जुड़ाव होने से अब 06 घण्टे का सफर अब 2.5 घण्टे में तय होगा। सहारनपुर एयरपोर्ट देश और दुनिया के साथ जुडे़ इसके लिए भी युद्धस्तर पर प्रयास जारी हैं। साथ ही, सहारनपुर के युवाओं को उच्च शिक्षा हेतु जनपद के बाहर न जाने पड़े, इसके लिए राज्य विश्वविद्यालय सहारनपुर का निर्माण कार्य भी शीघ्र ही पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना के तहत लकड़ी की नक्काशी को सहारनपुर से जोड़ा गया है। माँ शाकम्भरी सिद्ध पीठ के पर्यटन विकास के लिए भी प्रदेश सरकार निरन्तर प्रयास कर रही है, जिससे यह देश व दुनिया में जाना जा सके।

UPCM योगी सहारनपुर में कार्यक्रम के दौरान लाभार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार बिना किसी भेदभाव के प्रदेश के गरीबों, किसानों, नौजवानों को विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित करने के लिए कृतसंकल्पित है। विकास और सुरक्षा प्रत्येक नागरिक को मिलनी चाहिए। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत प्रदेश के 01 करोड़ 57 लाख किसानों के खातों में अब तक 4000 रुपए की किश्त भेजी जा चुकी है।
किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत 6000 रुपए प्रति वर्ष देने का कार्य केन्द्र सरकार द्वारा किया गया है। राज्य सरकार ने गरीबों को आवास व शौचालय उपलब्ध कराने का कार्य किया है।

UPCM योगी सहारनपुर में कार्यक्रम के दौरान लाभार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने नारी सम्मान व गरिमा की रक्षा के लिए तीन तलाक प्रथा को कानून बनाकर समाप्त कर दिया है। साथ ही, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 को समाप्त कर ऐतिहासिक कार्य किया है। सरकार युवाओं को रोजगार के भी विभिन्न अवसर प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि नानौता शुगर मिल इस सत्र से चल जायेगी, जबकि बिडवी शुगर मिल पर सुप्रीम कोर्ट से यदि अनुकूल फैसला आया तो इसे भी शीघ्र चालू करवा दिया जाएगा।

UPCM योगी सहारनपुर में कार्यक्रम के दौरान लाभार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने 73,000 करोड़ रुपए से अधिक का गन्ना भुगतान कराया है। प्रदेश सरकार का उद्देश्य प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा, विकास और रोजगार प्रदान करना है। इसके अलावा, राज्य सरकार किसानों की खुशहाली भी सुनिश्चित कर रही है। गरीब, किसान, नौजवान और उद्यमियों से जुड़ी समस्याओं के निवारण के लिए सरकार तत्पर है। वर्तमान सरकार जनआस्था का भी पूरा सम्मान करती है। जनसमस्याओं के त्वरित और प्रभावी समाधान का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इसके लिए जनता को सरकार के पास आने की जरूरत नहीं है, सरकार खुद जनता के पास आएगी। सरकार के मंत्रिगण प्रत्येक माह जनपद सहारनपुर का भ्रमण करते हैं, लोग उनसे मिलकर अपनी समस्याओं के समाधान के लिए मार्गदर्शन ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि विकास से संबंधित सभी योजनाओं का क्रियान्वयन समयबद्ध ढंग से किया जाए, जिससे ये सभी योजनाएँ लोक कल्याण का माध्यम बनें। राज्य सरकार किसी भी कीमत पर जनता का शोषण नहीं होने देगी।

गोवंश की सुरक्षा का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गोमाता की हत्या न हो, इसके लिये अवैध बूचड़खाने बन्द करवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित करना होगा कि निराश्रित गोवंश सड़कों पर घूमें और न ही वे किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस समस्या के प्रति अत्यन्त गंभीर है। इसके लिये पूरे प्रदेश में निराश्रित गोआश्रय स्थलों का निर्माण कराया गया है। सरकार द्वारा यह भी व्यवस्था की गई कि यदि कोई किसान निराश्रित गोवंश को पालने का इच्छुक है, तो उसे 900 रुपए प्रति गोवंश प्रति माह की धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी।

UPCM योगी प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार बनने से पहले प्रदेश में अराजकता का माहौल था, लोगों में डर व्याप्त था। वर्तमान राज्य सरकार द्वारा ढाई वर्ष के अन्दर कानून-व्यवस्था सुदृढ़ की गयी है। अपराध पर अंकुश लगाया गया है और अपराधी जेल भेजे गए हैं। आज किसी भी नागरिक को डर के रहने की आवश्यकता नहीं है। प्रदेश में सुरक्षा का वातावरण बना है, जिससे सभी लोग पर्वों एवं त्योहारों को धूम-धाम से मना रहे हैं। राज्य सरकार ने भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के साथ-साथ सरकारी योजनाओं को अंतिम छोर के व्यक्ति तक पहुंचाने का कार्य किया है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा कुम्हारी कला हेतु भूमि आवंटन के तहत रामधन और संजय को प्रमाण पत्र, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत कुसुम देवी को स्वीकृति पत्र, ‘एक जनपद एक उत्पाद‘ योजना के तहत शाहवेज को ऋण वितरण प्रमाण पत्र व डमी चेक, मुख्यमंत्री आवास योजना के अंतर्गत फूलमति को स्वीकृति पत्र, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में सुनिता को रिवाॅल्विंग फण्ड प्रमाण पत्र, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) में बबीता एवं पूजा को आवास आवंटन का पत्र, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (पर ड्राॅप मोर क्राॅप) में मांगेराम को अनुदान प्रमाण पत्र, दिव्यांगजन भरण पोषण अनुदान (दिव्यांगजन पेंशन योजना) में सुशील को स्वीकृति पत्र, उज्ज्वला योजना में मिथलेश को डमी सिलेण्डर, निर्माण कामगार कन्या विवाह अनुदान सहायता में चन्दू को डमी चेक, निर्माण कामगार मृत्यु सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना में रेखा को डमी चेक, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में शशिबाला को गोल्डन कार्ड और राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के तहत सुनीता देवी को स्वीकृति पत्र वितरित किए गए।

UPCM योगी सहारनपुर में कार्यक्रम के दौरान लाभार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर विभिन्न विभागों द्वारा जनहित में संचालित योजनाओं से सम्बन्धित लगाए गए विभागीय स्टालों का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कृषि, जी.एम.डी.आई.सी., ग्राम्य विकास, डूडा, उद्यान, जिला प्रोबेशन, दिव्यांगजन, जिला पंचायत राज विभाग, पशुपालन, बाल विकास एवं पुष्टाहार, जिला पूर्ति विभाग, बेसिक शिक्षा विभाग, समाज कल्याण एवं श्रम विभाग एवं चिकित्सा विभाग द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। साथ ही, उन्होंने अधिकारियों से योजनाओं की अद्यतन जानकारी प्राप्त की। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री को प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

मुख्यमंत्री द्वारा जिन परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया गया उनमें सरसावा में मलकपुर एकल ग्रामीण पेयजल योजना, ढिक्काकला एकल ग्रामीण पेयजल योजना, नगर पालिका परिषद नकुड के अन्तर्गत 4 निर्माण कार्य, बलियोखेड़ी में इघरी एकल ग्रामीण पेयजल योजना, नागल में चहलोली एकल ग्रामीण पेयजल योजना, मुजफ्फराबाद में खुशालीपुर एकल ग्रामीण पेयजल योजना, गंगोह में सुखेड़ी एकल ग्रामीण पेयजल योजना और मुगल माजरा एकल ग्रामीण पेयजल योजना, उ.प्र. सहकारी चीनी मिल संघ लि. लखनऊ की आसवनी इकाई नानौता में जीरो लिक्विड डिस्चार्ज संयंत्र का कार्य, जनपद सहारनपुर में वृहद गौ संरक्षण केन्द्र तीतरो का कार्य, जनपद सहारनपुर में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत बेसलाइन सर्वे में छूटे हुए परिवार (एल.ओ.बी. योजना) में कुल 12690 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण, नगर पंचायत अम्बेहटा के अन्तर्गत 3 निर्माण कार्य, नानौता में महेशपुर एकल ग्रामीण पेयजल योजना, देवबन्द में नगर पालिका परिषद नकुड के अन्तर्गत 4 निर्माण कार्य, सहारनपुर में डाॅ. भीमराव अम्बेडकर स्टेडियम में खेलो इण्डिया स्कीम के अन्तर्गत 400 मीटर सिन्थेटिक एथलेटिक रनिंग ट्रैक का निर्माण, रामपुर मनिहारान में अम्बेहटा चांद एकल ग्रामीण पेयजल योजना, हलगोवा मु. एकल ग्रामीण पेयजल योजना और नगर पंचायत रामपुर मनिहारान के 04 निर्माण कार्यों सहारनपुर देहात के दुधली बुखारा एकल ग्रामीण पेयजल योजना, हरोडा मुस्तकम एकल ग्रामीण पेयजल योजना, घोघरेकी एकल ग्रामीण पेयजल योजना, देवबन्द में नैनसाबे एकल ग्रामीण पेयजल योजना, रसूलपुर खेडी एकल ग्रामीण पेयजल योजना, शीतलाखेडा एकल ग्रामीण पेयजल योजना, नगर पालिका परिषद देवबन्द के 08 निर्माण कार्य आदि के अलावा सहारनपुर नगर में 14 वें वित्त के अन्तर्गत 34 सडकों का निर्माण, 30 नालों का निर्माण, प्रकाश व्यवस्था में तार खींचना एवं अपशिष्ट प्रबन्धन के लिए जमीन खरीदना आदि शामिल हैं।

UPCM योगी सहारनपुर में कार्यक्रम के दौरान लाभार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए

कार्यक्रम को गन्ना विकास मंत्री सुरेश राणा ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में बिजली की व्यवस्था बिल्कुल ठप्प थी, लेकिन वर्तमान सरकार में यह व्यवस्था सुदृढ़ हो गयी है।

इस अवसर पर जिला प्रभारी एवं कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, पंचायतीराज मंत्री भूपेन्द्र सिंह चौधरी, आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धर्म सिंह सैनी सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण और शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।
btnimage