UPCM योगी ने परिवहन विभाग के क्रियाकलापों, योजनाओं और कार्यों के प्रस्तुतिकरण का अवलोकन किया

लखनऊ (17 जून, 2019)
UPCM योगी आदित्यनाथ ने लोक भवन में परिवहन विभाग के क्रियाकलापों, योजनाओं एवं अभिनव कार्यों के प्रस्तुतिकरण का अवलोकन किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बस स्टेशन शहर के बाहर बनाए जाएं और यह स्टेशन बहुउपयोगी हों, जिसमें पार्किंग व शाॅपिंग सेण्टर जैसी अन्य सुविधाओं की अच्छी व्यवस्था हो। ग्रामीण जनता को मांगलिक कार्यों हेतु रियायती दर पर परिवहन निगम की बस उपलब्ध कराई जाए। जनपद बागपत, शामली और चन्दौली में बस स्टेशन का निर्माण कराया जाए।

मुख्यमंत्री ने परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे डग्गामार वाहनों और ओवर लोडिंग पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित करें। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा सप्ताह अभियान को सफल बनाने के लिए आवश्यक है कि इसमें जनसहभागिता की भागीदारी सुनिश्चित हो। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सभी स्कूलों में 15 जुलाई से 30 जुलाई, 2019 तक यातायात से जुड़े नियमों की जानकारी विद्यार्थियों को दी जाए।

मुख्यमंत्री को अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि वर्तमान में बेहतर परिवहन व्यवस्था के कारण राजस्व में काफी बढ़ोत्तरी हुई है। उन्होंने बताया कि प्रवर्तन कार्य को प्रभावी ढंग से लागू किया गया है, जिसका परिणाम है कि प्रशमन शुल्क में 11.78 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नम्बर प्लेट (एच.एस.आर.पी.) योजना लागू की गई है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश ई-चालान लागू करने वाला देश का प्रथम राज्य है। वर्ष 2018-19 में अब तक 05 लाख 96 हजार 761 ई-चालान किए गए।

मुख्यमंत्री को यह अवगत कराया गया कि राज्य परिवहन निगम ऑटोमेटेड फ्यूल मैनेजमेंट सिस्टम लागू करने वाला देश का पहला परिवहन निगम है। उन्होंने यह भी बताया कि आर.एफ.आई.डी. फास्टैग से हाइवे टोल का भुगतान करने वाला भी पहला राज्य उत्तर प्रदेश ही है। इससे 09 करोड़ रुपए की बचत हुई है।

मुख्यमंत्री को बताया गया कि वेब बेस्ड सारथी साॅफ्टवेयर सभी 77 परिवहन कार्यालयों में लागू किया गया है। इससे लाइसेंस डुप्लीकेसी पर अंकुश लगा है। आर.टी.ओ. में ई-प्रणाली व्यवस्था लागू की गई है। इसके माध्यम से परमिट सम्बन्धी 06 सेवाओं-नया परमिट, डुप्लीकेट परमिट, परमिट नवीनीकरण, अस्थायी परमिट, स्पेशल परमिट तथा नेशनल परमिट/ऑल इण्डिया परमिट ऑथराइजेशन नवीनीकरण में ऑनलाइन आवेदन की सुविधा उपलब्ध करायी गयी है।

इस अवसर पर परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वतंत्रदेव सिंह, अध्यक्ष उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम संजीव सरन, प्रमुख सचिव परिवहन आराधना शुक्ला, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एस.पी. गोयल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।
btnimage